Class 11 Business Studies Notes in Hindi

Division of Class 11 Business Studies Chapter 1

Class 11 Business Studies Chapter 1 जिसका नाम Business trade And Commerce है इस पाठ को दो भागो में बाटा गया है पहला भाग व्यापार और वाणिज्य का इतिहास है तथा दूसरा भाग व्यवसाय की प्रकृति और अवधारणा है

History Of Trade and Commerce Class 11

हिमालय पर्वत से हिन्द महासागर व बंगाल की कड़ी तक सम्पूर्ण व्यावसायिक मार्ग को रेशमी राह कहा जाता है

भारत के पूर्वी तथा पश्चिमी समुद्री मार्ग जहा पर मसालों का व्यापार किया जाता है उसे मसाला मार्ग के नाम से जाना जाता है प्राचीन काल में मुख्या रूप से भारत में व्यापार समुद्री मार्गो के माध्यम से किया जाता है

Class 11 Business Studies Revision

स्वदेशी बैंकिंग प्रणाली

भारत में प्राचीन काल में विनिमय के लिए पत्र मुद्रा का उपयोग किया जाता था तथा इसमें कई समस्या थी इसके कारण धात्विक मुद्रा प्रचलन शुरू हो गया

पत्र मुद्रा क्या है

पत्र मुद्रा एक ऐसा प्रपत्र होता है जिसमे एक व्यक्ति के द्वारा किसी दुसरे व्यक्ति को भुगतान करने का वचन दिया जाता है यह पत्र मुद्रा कहलाती है हुंडी और चिट्टी आदि ऐसी पत्र मुद्राए थी जिसका उपयोग किया जाता है

प्राचीन भारत के प्रमुख व्यापारिक केंद्र

पाटलिपुत्रइसका वर्तमान नाम पटना है यहा नागिनो का व्यापार किया जाता था
पेशावरयह घोड़े तथा ऊन का निर्यातक था
तक्षशिलायहा वित्तीय वाणिज्यिक बैंक अधिक मात्रा में थे
कांचीइसका वर्तमान नाम कांजीवरम है यह मोती तथा कांच का निर्यातक था

Business Trade and Commerce Class 11

मनुष्य के द्वारा की जाने वाली क्रियाओ को दो भागो में बांटा गया है

आर्थिक क्रिया – ऐसी क्रियाएं जिनसे धन की प्राप्ति होती है जैसे दुकानदार द्वारा वस्तुओ का विक्रय करना

अनार्थिक क्रिया – ऐसी क्रियाएं जोकि सहानुभूति प्रेम स्नेह भावुकता के कारण की जाती है जैसे गुरूद्वारे में लोगो को भोजन कराना

आर्थिक क्रियाओं को 3 भागों में बांटा गया है

व्यवसायवस्तु का उत्पादन तथा सेवाओं को प्रदान किया जाता है
पेशाएक विशेष ज्ञान की आवश्यकता तथा व्यक्तिगत सेवाएं प्रदान की जाती है
रोजगारएक व्यक्ति के लिए नियमित रूप से कार्य करते हुए सेवाएं प्रदान करना

व्यवसाय की विशेषताएं

  • यह एक सामाजिक में मानवीय क्रिया है
  • व्यवसाय एक आर्थिक क्रिया है
  • निरंतर चलने वाली क्रिया है
  • व्यवसाय में वस्तुओं का उत्पादन तथा सेवाओं को प्रदान करने से संबंधित क्रियाओं को किया जाता है
  • इसमें में उपयोगिता का सृजन होता है
  • इसका उद्देश्य लाभ कमाना है
  • व्यवसाय में वस्तुओं का उत्पादन व सेवाओं को प्रदान किया जाता है तथा वितरण एवं विनिमय भी किया जाता है
  • ग्राहक संतुष्टि व्यवसाय का प्रमुख उद्देश्य होता है

पेशा की विशेषताएं

  • पेशा में विशिष्ट ज्ञान एवं योग्यता की आवश्यकता होती है
  • प्रशिक्षण एवं अनुभव के लिए औपचारिक शिक्षा संस्थान की आवश्यकता होती है
  • पेशे में आचार संहिता लागू होती है आचार संहिता में पंजीयन ड्रेस कोड आदि को शामिल करते हैं
  • पारिश्रमिक के रूप में शुल्क प्राप्त होता है
  • पेशा का उद्देश्य सामाजिक सेवा करना होता है

रोजगार की विशेषताएं

  • इसमें एक व्यक्ति के द्वारा दूसरे व्यक्ति के लिए सेवाएं प्रदान की जाती है
  • रोजगार में कार्य स्थल पर उपस्थित होकर स्वयं को कार्य करना पड़ता है
  • यहा कार्य का हस्तांतरण नहीं किया जा सकता है
  • इसमें नियोक्ता तथा कर्मचारी के मध्य एक अनुबंध होता है

Business Trade and Commerce Class 11 के नोट्स में हमने सभी आर्थिक क्रियाओं जैसे कि व्यवसाय, रोजगार, पेशा आदि की विशेषताओं को भी सम्मिलित कर दिया है

व्यवसाय की सहायक क्रियाएं

वे क्रियाएं जो व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक होती है उन्हें सहायक क्रियाओं के नाम से जाना जाता है

सहायक क्रियाओं को 5 भागों के अंदर बांटा गया है

यह सुरक्षा प्रदान करती है
बैंकिंगपूंजी या वित्त की समस्या का समाधान करता है
परिवहनवितरण की समस्या का समाधान अर्थात वस्तुओं को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने का कार्य परिवहन कहलाता है
विज्ञापनमाल के संग्रहण की समस्या का समाधान करता है
परिवहनसंदेश वाहन या संचार की समस्या का समाधान करता है

व्यवसाय में लाभ कमाना क्यों आवश्यक है?

व्यवसाय में लाभ कमाना आवश्यक है क्योंकि यह जीवन यापन के लिए भी आवश्यक है व्यवसाय का अस्तित्व बचाए रखने के लिए भी लाभ की आवश्यकता या धन की आवश्यकता होती है न परिवर्तन करने के लिए तथा व्यवसाय का विकास एवं विस्तार करने के लिए भी आवश्यक है

आर्थिक क्रियाओं को कितने भागों के अंदर बांटा गया है?

आर्थिक क्रियाओं को तीन भागों के अंदर बांटा गया है जिनमें व्यवसाय रोजगार तथा पेशा है उन सभी आर्थिक क्रियाओं को करने का उद्देश्य लाभ कमाना है तथा जीवन यापन करना होता है

व्यवसाय की विशेषताएं क्या है?

व्यवसाय की कुछ विशेषताएं जैसे कि व्यवसाय में अधिक पूंजी की आवश्यकता होती है यहां पर प्रतिफल भी अधिक अच्छा मिलता है तथा जोखिम भी बहुत अधिक होती है अन्य आर्थिक क्रियाओं की तुलना में यहां पर जोखिम अधिक होता है

रोजगार में व्यक्ति को किस प्रकार प्रतिफल प्राप्त होता है?

रोजगार में प्रतिफल को दो भागों के अंदर बांटा गया है यदि कोई व्यक्ति शारीरिक कार्य करता है तो उसे प्रतिफल के रूप में मजदूरी प्राप्त होती है तथा कोई व्यक्ति मानसिक कार्य को करता है तो उसे प्रतिफल के रूप में वेतन प्राप्त होता है

उद्योगों को कितने भागों के अंदर बांटा गया है?

उद्योगों को तीन भागों के अंदर बांटा गया है जिसमें प्राथमिक उद्योग, द्वितीयक उद्योग तथा तृतीयक उद्योग है द्वितीयक उद्योग को माध्यमिक उद्योग के नाम से भी जाना जाता है तथा तृतीय उद्योग को सेवा उद्योग के नाम से भी जाना जाता है

1 comment
  1. Pingback: Exam Preparation
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sign Up for Our Newsletters

Get notified of the best deals on our WordPress themes.

You May Also Like

How to Grow Youtube Channel in Hindi 2021

How to Grow Youtube Channel in Hindi के बारे में आज मैं…

MediFlam TeleHealth Company [Flamingo Transworld]

What is MediFlam  You must have heard about Telehealth, due to Corona,…

What is Digital Marketing? Beginner’s Guide

  What is Digital Marketing Digital Marketing This is a way to…

ट्रेडिंग एप कैसे बनाये इसे बनवाने में कितना खर्चा आता है | Trading App Kaise Banaye and Trading app Development Cost

Trading App Kaise Banaye, ट्रेडिंग एप कैसे बनाये, How to Make Trading…